क्यों होते हैं गंडमूल नक्षत्र दोषकारी / 2016

0
317

Gandmul-Nakshatra-300x129भचक्र पर मौजूद 27 नक्षत्रों में से छ: नक्षत्र ऎसे हैं जिन्हें गंडमूल नक्षत्र कहा जाता है. यह नक्षत्र दो राशियों की संधि पर होते हैं, एक नक्षत्र के साथ ही राशि भी समाप्त होती है और दूसरे नक्षत्र के आरंभ के साथ ही दूसरी राशि भी आरंभ होती है. जैसे मीन राशि के अंत में रेवती नक्षत्र होता है और राशि के खतम होते ही मेष राशि का आरंभ होते ही अश्विनी नक्षत्र का आरंभ भी होता है. बुध व केतु के नक्षत्रों को गंडमूल नक्षत्रों में शामिल किया गया है. मीन-मेष, कर्क-सिंह, वृश्चिक-धनु राशियों में गंडमूल नक्षत्र होता है.

रेवती, अश्विनी, आश्लेषा, मघा, ज्येष्ठा तथा मूल नक्षत्र को गंडमूल नक्षत्र माना जाता है. इन नक्षत्रों में से किसी एक में जन्म लेने पर बच्चा माता, पिता, स्वयं अथवा अन्य किसी रिश्तेदार पर भारी पड़ता है, माना गया है. इसके लिए बच्चे के जन्म के 27वें दिन शांति पूजा का विधान है.

गण्डमूल नक्षत्रों का प्रारम्भ और समाप्तिकाल (भारतीय समयानुसार) – 2016 | Beginning and Ending time of Gandmool Nakshatra 2016

प्रारंभ काल समाप्ति काल
दिनाँक नक्षत्र समय दिनाँक नक्षत्र समय
7 जनवरी ज्येष्ठा 08:57 से 9 जनवरी मूल 10:01 तक
15 जनवरी रेवती 26:33 से 17 जनवरी अश्विनी 23:58 तक
24 जनवरी आश्लेषा 20:44 से 26 जनवरी मघा 23:39 तक
3 फरवरी ज्येष्ठा 18:08 से 5 फरवरी मूल 19:43 तक
12 फरवरी रेवती 09:07 से 14 फरवरी अश्विनी 05:33 तक
21 फरवरी आश्लेषा 04:00 से 23 फरवरी मघा 07:22 तक
1 मार्च ज्येष्ठा 26:37 से 4 मार्च मूला 05:20 तक
10 मार्च रेवती 18:21 से 12 मार्च अश्विनी 13:15 तक
19 मार्च आश्लेषा 09:49 से 21 मार्च मघा 13:46 तक
29 मार्च ज्येष्ठा 09:41 से 31 मार्च मूल 13:23 तक
7 अप्रैल रेवती 05:20 से 8 अप्रैल अश्विनी 23:23 तक
15 अप्रैल अश्लेषा 15:36 से 17 अप्रैल मघा 19:33 तक
25 अप्रैल ज्येष्ठा 15:40 से 27 अप्रैल मूल 19:43 तक
4 मई रेवती 16:01 से 6 मई अश्विनी 10:23 तक
12 मई आश्लेषा 22:45 से 14 मई मघा 25:53 तक
22 मई ज्येष्ठा 21:34 से 24 मई मूल 25:19 तक
31 मई रेवती 24:41 से 2 जून अश्विनी 20:16 तक
9 जून आश्लेषा 07:30 से 11 जून मघा 09:29 तक
19 जून ज्येष्ठा 04:14 से 21 जून मूल 07:31 तक
28 जून रेवती 07:04 से 30 जून अश्विनी 03:56 तक
6 जुलाई आश्लेषा 16:59 से 8 जुलाई मघा 18:10 तक
16 जुलाई ज्येष्ठा 11:56 से 18 जुलाई मूल 15:03 तक
2 अगस्त आश्लेषा 25:52 से 4 अगस्त मघा 26:58 तक
12 अगस्त ज्येष्ठा 20:17 से 14 अगस्त मूल 23:46 तक
21 अगस्त रेवती 18:46 से 23 अगस्त अश्विनी 15:13 तक
25 अगस्त रेवती 12:26 से 27 अगस्त अश्विनी 09:41 तक
30 अगस्त आश्लेषा 09:13 से 1 सितंबर मघा 10:53 तक
9 सितंबर ज्येष्ठा 04:26 से 11 सितंबर मूल 08:44 तक
18 सितंबर रेवती 03:22 से 19 सितंबर अश्विनी 22:29 तक
26 सितंबर आश्लेषा 15:04 से 28 सितंबर मघा 17:25 तक
6 अक्तूबर ज्येष्ठा 11:41 से 8 अक्तूबर मूल 16:47 तक
15 अक्तूबर रेवती 14:01 से 17 अक्तूबर अश्विनी 08:16 तक
23 अक्तूबर आश्लेषा 20:39 से 25 अक्तूबर मघा 23:03 तक
2 नवंबर ज्येष्ठा 17:57 से 4 नवंबर मूल 23:21 तक
11 नवंबर रेवती 25:00 से 13 नवंबर अश्विनी 19:36 तक
20 नवंबर आश्लेषा 03:44 से 22 नवंबर मघा 05:09 तक
29 नवंबर ज्येष्ठा 23:56 से 2 दिसंबर मूल 05:05 तक
9 दिसंबर रेवती 10:12 से 11 दिसंबर अश्विनी 06:14 तक
17 दिसंबर आश्लेषा 13:09 से 19 दिसंबर मघा 13:03 तक
27 दिसंबर ज्येष्ठा 06:27 से 29 दिसंबर मूल 11:11 तक